Business Local News national News

सरकार ने चीनी का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2019-20 के लिए बढ़ाकर 31 रुपए प्रति किलो किया

image001V38Y

गन्ना किसानों को लाभ पहुंचाने और उनके एरियर/ गन्ने का बकाया भुगतान को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने साल 2019-20 के लिए चीनी का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 29 रुपए से बढ़ाकर 31 रुपए करने का फैसला लिया है. इसका ऐलान केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने आज शाम दिल्ली में किया. उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के फुड डिपार्टमेंट ने न्यूनतम समर्थन मूल्य 2 रुपया बढ़ाने का अहम फैसला लिया जिससे चीनी मिलों में पैसा आए और वो गन्ना किसानों को एरियर और बकाया राशि का भुगतान कर सकें.

इस फैसले के ऐलान के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने इसपर जोर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रही इस सरकार का मुख्य लक्ष्य किसानों का कल्याण और विकास सुनिश्चित करना है. ये फैसला किसानों के विकास की दिशा में एक और कदम साबित होगा. श्री पासवान ने भरोसे के साथ कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य में इस बढ़ोतरी से चीनी मिलों की आय और बचत में वृद्धि होगी और ये फायदा चीनी मिलों से किसानों तक पहुंचेगा.

केंद्र सरकार का खाद्य विभाग और राज्य सरकारें भी इसकी निगरानी कर सकती हैं कि चीनी को बढ़े हुए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेची जाए, जिससे चीनी मिलों को अतिरिक्त आय हो और वो इससे किसानों के बकाए को पूरा करना सुनिश्चित करें. 13 फरवरी 2019 तक गन्ना किसानों की बकाया राशि 20,167 करोड़ रुपए है, जबकि एफआरपी राशि 18,157 करोड़ रुपए है.

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बैठक में जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवाननों पर हुए आतंकी हमले की भी निंदा की. श्री पासवान ने शहीदों के परिजनों के साथ एकजुटता दिखाते हुए कहा कि हमारे बहादुर जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी.

Related posts

बैंकों में आज से हड़ताल, पांच दिन बंद रहेंगे बैंक

admin

सबरीमालाः BJP-कांग्रेस का सर्वदलीय बैठक से किनारा, केरल सरकार अड़ी

admin

1984 सिख विरोधी दंगे: सज्जन कुमार ने सरेंडर के लिए हाईकोर्ट से मांगे 30 दिन

admin

Flash